शनि की राशि है मकर राशि, जानें इस राशि के जातकों से जुड़ी खास बातें

मकर राशि के जातकों के लिए बहुत जरूरी जानकारी, पढ़ें और जानें आपके बारे में हर वो बात जो आप जानना चाहते थे । आपका शुभ रंग, दिन और शुभ अंक क्‍या है ये भी जानिए ।

New Delhi, Feb 02 : 12 राशियों में 10वीं राशि है मकर, मकर राशि को अंग्रेजी में Capricorn कहते हैं । इसका प्रतीक चिन्‍ह बकरी है । इस राशि के जातकों की सुंदरता आपको मन मोह लेगी, शारीरिक बनावट बहहुत ही आकर्षक होती है । इस राशि के जातक अपनी मेहनत के लिए जाने जाते हैं । दूसरों के सुख के लिए अपने सुख का त्‍याग करना इनके लिए कोई बड़ी बात नहीं । इस राशि के जातकों के लड़के और लड़कियां दोनों ही अच्‍छे स्‍वभाव के माने जाते हैं । आगे जानिए इस राशि से जुड़ी वो बातें जो आपको मकर राशि के जातक को करीब से जानने में मदद करेंगी ।

मकर राशि
राशियों के समूह में दसवें नंबर पर आती है मकर राशि । बकरी के चिन्‍ह वाली इस राशि के जातकों का स्‍वभाव भी राशि चिन्‍ह जैसा ही होता है । शांत और सौम्‍य स्‍वभाव के मकर राशि के जातक बहुत कम उग्र होते हैं । स्थिति जब नियंत्रण से बाहर होने लगती है तब ये अपने अंदर बैठे क्रोध को बाहर लाते हैं और, हालात बिगड़ने से पहले उसे शांत कर देते हैं ।

मकर राशि की लड़कियां
इस राशि की लड़कियां बहुत ही खूबसूरत होती हैं । मकर राशि की लड़किया कार्यकुशल, मेहनती होती हैं, इनमें दूसरों के प्रति दया भाव कूट-कूट कर भरा होता है । इनकी हाइट बहुत ज्‍यादा नहीं बढ़ती लेकिन औसत ऊंचाई तक जरूर पहुंचती है । इनकी आंखें इनकी पहचान होती है, जो बहुत ही गंभीर होती हैं । बातें करते हुए ये बहुत ही ध्‍यान रखती हैं, किसी को कुछ बुरा ना लग जाए इस बात का ये विशेष ख्‍याल रखती हैं ।

सौम्‍य स्‍वभाव के होते हैं इस राशि के युवक
इस राशि के युवक स्‍वभाव में बेहद सभ्‍य और सौम्‍य होते हैं । इन युवकों की पत्‍नियां अपने पतियों से हमेशा संतुष्‍ट और खुश रहती हैं । इसराशि के युवक बेस्‍ट हसबैंड होते हैं क्‍योंकि ये अपने पार्टनर के इमोशन का ख्‍याल रखते हैं । इनका स्‍वभाव ही ऐसा होता है कि ये अपनी पार्टनर के लिए हमेशा वफादार रहते हैं । इस राशि के युवक अपने कार्य में सदैव सफल्‍ होते हैं ।

इन राशियों से नहीं बनती
मकर राशि के जातक स्‍वभाव से सच्‍चे होते हैं इसलिए उन लोगों से इनकी बिलकुल नहीं बनती जिनके स्‍वभाव में विरोधाभास हो । मिथुन राशि के जातकों से मकर राशि के जातकों की बिलकुल नहीं बनती । गलती से इन दोनों राशियों के जातकों की आपसे में शादी आदि हो गई तो समझिए ये जीवन भर की मुसीबत गले पड़ गई । इस राशि के जातकों की अपनी ही राशि के जातकों से भी नहीं बनती है ।

मकर राशि की शुभ धातु
इस राशि का स्‍वामी ग्रह शनि है, इसीलिए इस राशि की शुभ धातु लोहा बताई गई है । लोहा शरीर में रक्त प्रवाह, हड्डियों की समस्‍या, बालों और कोशिकाओं पर असर डालता है । छोटे बच्‍चों को लोहा पहनाया जाता है क्‍योंकि ये उनकी सेहत के पर अनुकूल असर डालता है । इस धातु की वस्‍तु शनिवार को बिलकुल नहीं लेनी चाहिए । मकर और कुंभ राशि के लिए ये धातु शुभ मानी गई है ।  दोनों ही राशियों का स्‍वामी ग्रह शनि ही है ।

मकर राशि के जातकों के लिए अचूक उपाय
मकर राशि के जातक अपने जीवन में सुख-शांति की कामना करते हैं । उनका स्‍वभाव ही ऐसा होता है कि वो किसी से झगड़ा मोल लेना पसंद नहीं करते हैं । ऐसे में ज्‍योतिष में एक उपाय इस राशि के जातकों के लिए बताया गया है । घर के वेस्‍ट में तुलसी का पौधा लगाएं । प्रतिदिन इस पौधे में जल अर्पित करें । संध्‍या काल में एक दीप जलाएं । आपके समस्‍त रुके हुए काम पूरे होंगे । आपकी राशि के स्‍वामी ग्रह स्‍वय शनि हैं ।

शुभ रत्‍न है लहसुनिया
मकर राशि के जातकों को लोहे का छल्‍ला पहनने और लहसुनिया रत्‍न पहनने की सलाह दी जाती है । लहसुनिया इस राशि के जातकों के लिएRashifal10 शुभ रत्‍न माना जाता है । लहसुनिया को वैदूर्य मणि, सूत्र मणि, केतु रत्न, कैट्स आई, विडालाक्ष के नाम से भी जाना जाता है। इसका रंग हल्का पीला होता है । लहसुनिया धारण करने से इस राशि के जातकों की कुंडली से केतु का प्रभाव भी कम हो जाता है  ।

शुभ दिन और शुभ रंग
मकर राशि का स्‍वामी ग्रह शनि है, इसीलिए इनका शुभ दिन शुक्रवार, मंगलवार और शनिवार होता है। इस राशि के लिए लाल, नीला और सफेद रंग शुभ माने जाते हैं । इस राशि के जातकों के साथ मित्रता और जीवन भर का साथ दोनों ही खूब जमता है । इनके सौम्‍य व्‍यवहार और शांत स्‍वभाव को इनके परिवार के लोग अचछी तरह से समझते हैं, लेकिन कई बार इनकी संतान इन्‍हें नहीं समझ पाती । अगर आप मकर राशि से हैं तो अपने मूल स्‍वभाव के साथ अपने करीबियों का भी ख्‍याल रखें ।